समाचार

शरजील इमाम के खिलाफ चार्जशीट दायर, लगा हिंसा भड़काने का आरोप

दिल्ली की साकेत कोर्ट में शरजील इमाम के खिलाफ चार्जशीट दायर की गई है, जिसमें शरजील पर भड़काऊ भाषण देने और हिंसा भड़काने का आरोप लगाया गया है। देश में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के दौरान शरजील इमाम को गिरफ्तार किया गया था। शरजील इमाम की गिरफ्तारी 28 जनवरी को बिहार के जहानाबाद से की गई थी।

आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर 13 दिसंबर को शरजील इमाम का एक वीडियो वायरल हआ था, जिसमें शरजील का एक कथित भड़काऊ भाषण था। हिंसा भड़काने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज की थी। जांच के दौरान सबूतों के आधार पर पुलिस ने शरजील के खिलाफ आईपीसी की धारा 124 ए (राजद्रोह) और 153 ए ( धर्म, भाषा, नस्ल वगैरह के आधार पर लोगों में नफरत फैलाना) लगाई थी।

दिल्ली पुलिस के बयान के मुताबिक 15 दिसंबर को जामिया के छात्रों ने CAA के खिलाफ न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी और जामिया में रैली आयोजित की थी और इसके चलते गंभीर हिंसा भी हुई थी, जिसमें आगजनी और हिंसा हुई थी और साथ ही पत्थरबाजी भी हुई थी। भड़काऊ भाषण की वजह से फैली इस हिंसा के चलते सार्वजनिक और निजी संपत्ति को भी भारी नुकसान पहुंचा था।

CAA के खिलाफ हुए प्रदर्शन के वक्त जिस तरह से दंगा भड़का, जान-माल का नुकसान हुआ उससे जुड़े केस दिल्ली पुलिस ने दर्ज किए थे। दिल्ली पुलिस ने एफआईआर को आधार बताते हुए जामियां में हुई हिंसा के लिए शरजील इमाम को गिरफ्तार किया है।

आपको बता दें की शरजील इमाम का जो भाषण सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, उसमें  कथित तौर पर असम को भारत से जोड़ने वाले भूभाग जिसे चिकेन नेक कहा जाता है, को अलग करने की बात कही गई थी। शरजील इमाम अपने इस भाषण में ये कहता हुआ नजर आता है कि अगर हमारे पास संगठित लोग हों तो हम असम को हिंदुस्तान से अलग कर सकते हैं। इसके अलावा वो ये कहता हुआ भी सुनाई देता है कि भले ही हमेशा के लिए नहीं तो कुछ समय के लिए ही असम को भारत से अलग किया जा सकता है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close